शहीद दिवस की तारीख भूलने पर ट्रोल हुई कांग्रेस
| Agency - 23 Mar 2019

नई दिल्ली, शहीद दिवस पर कांग्रेस के आधिकारिक ट्वीटर एकाउंट से किया गया एक ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है। इस ट्वीट में कांग्रेस ने भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी देने की तारीख को गलत लिखा है। कांग्रेस ने अपने ट्वीट में शहीद दिवस पर राजगुरु भगत सिंह और सुखदेव को याद करते हुए एक फोटो साझा की, जिसमें उनके फांसी देने की तारीख को 24 मार्च बताया गया जबकि 23 मार्च को फांसी दी गई थी। शहीद दिवस पर कांग्रेस द्वारा किये गए इस ट्वीट को लेकर कई सोशल मीडिया यूजर सवाल उठाने लगे। एक ट्विटर यूजर निखिल दधिची ने लिखा कि जिन भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरु को कांग्रेस ने कभी शहीद नहीं माना और न उचित सम्मान दिया, आज उन्हीं शहीदों को मजबूरी में श्रद्धांजलि देनी पड़ रही हो तो तारीखों में चूक होना स्वाभाविक है। हालांकि कांग्रेस ने फजीहत होने के बाद ट्वीट को हटा लिया है। उसके बाद तारीख में सुधार कर फिर से ट्वीट किया। उल्लेखनीय है कि शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु ने 1928 में लाहौर में एक ब्रिटिश जूनियर पुलिस अधिकारी जॉन सॉन्डर्स की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में दोनों को फांसी की सजा हुई। इसके अलावा शहीद भगत सिंह को केंद्रीय असेंबली में बम फेंकने के मामले में फांसी की सजा सुनाई गई थी। तीनों क्रांतिकारियों को 24 मार्च को फांसी देनी थी लेकिन ब्रिटिश अधिकारियों ने फांसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन से डरकर 23 मार्च को गुपचुप तरीके से फांसी दे दी। 23 मार्च, 1931 को शाम करीब 7 बजकर 33 मिनट पर भगत सिंह और उनके दोनों साथी सुखदेव और राजगुरु को फांसी दे दी गई थी।
 


Browse By Tags



अन्य बड़ी ख़बरें इन्ही विषयों पर..